Network Marketing Vs Traditional Job, multi level Marketing, why network marketing is better, relationship marketing tips in hindi, top network marketing companies 2018, network marketing vs traditional business, robert kiyosaki network marketing, network marketing success secrets, rich dad poor dad

Hello दोस्तो आज मैं आपके सामने एक ऐसे विषय पर बात करने जा रहा हूँ कि यदि आपने इस लेख को पूरा पढ़ लिया तो आपकी ज़िन्दगी में बहुत बड़ा बदलाव आ सकता है. सबसे पहले हम बात करते हैं की दुनिया में पैसा कैसे कमाया जाता है? तो दोस्तों दुनिया में कानून की नज़र में सही तरीक़े से पैसा कमाने के केवल चार ही तरीक़े हैं. आज हम उन चारों तरीकों पर बात करेंगे. देखते हैं कि कौन से तरीक़े से हम जल्दी पैसा कमा सकते हैं. चलिए विषय लेते हैं Network Marketing Vs Traditional Job.

Network Marketing Vs Traditional Job

Network Marketing Vs Traditional Job, multi level Marketing, why network marketing is better, relationship marketing tips in hindi, top network marketing companies 2018, network marketing vs traditional business, robert kiyosaki network marketing, network marketing success secrets, rich dad poor dad

अगर आप Network Marketing में थोड़ी सी भी समझ रखते हैं तो आपने Robert T Kiyosaki का नाम तो ज़रूर सुना होगा जिन्होंने मशहूर किताब Rich Dad Poor Dad लिखी थी. उसमें वो पैसा कमाने के तरीकों के बारे में खुली चर्चा करते हैं. किताब में चार तरीकों के बारे में बताते हैं.

#Employee: जो लोग नौकरी करके पैसा कमाते हैं वो सदैव अपना समय और कठिन परिश्रम बेचते हैं. और बदले में नौकरी पर रखने वाला व्यक्ति उसको कुछ पैसे महीने में देता है. अगर आप नौकरी पर नहीं जाते हैं तो आपको कुछ भी नहीं मिलता है. मतलब जितना आप अपना समय और परिश्रम देंगे उतना ही आप पायेंगें.

#Self Employee: इस प्रकार के व्यक्ति खुद का व्यवसाय करते हैं और पैसा कमाते हैं. लेकिन इस प्रकार के व्यवसाय में क्या ये संभव है कि आप 4 या 6 सप्ताह का अवकाश ले लें. और आपका व्यवसाय पहले की तरह अपने आप चलता रहे.

#Big Business: इस प्रकार के कारोबार में व्यक्ति अपने साथ कठिन परिश्रम करने वाले व्यक्तियों को अपने पास नौकरी पर रखता है और वो ही इनके लिए आमदनी बढ़ाते हैं.

#Investor: इनके पास भी इनके लिए कठिन परिश्रम करने वाले लोग होते हैं. और ये अच्छा जीवन बिताते हैं.

Robert T Kiyosaki आगे बताते हैं कि दुनिया के 95% लोग Employee या Self Employee की श्रेणी में आते हैं. केवल 5% लोग ही हैं जो Business Owner या Investor की श्रेणी में आते हैं. लेकिन सबसे चौकाने वाली बात ये कि 95% लोगों के पास केवल 5% पैसा है जबकि 5% श्रेणी के लोगों के पास विश्व का 95% पैसा है. इसके ऊपर काफी Research किया गया कि आखिर क्या वजह है? जिसकी वजह से इतना बड़ा फ़र्क आता है? क्या ये हमसे ज़्यादा मेहनत करते हैं? क्या इनके पास हमसे ज़्यादा दिमाग है या फिर हमसे बड़ा शरीर है? मगर दोस्तो ऐसा कुछ भी नहीं है. ये सब लोग भी हम जैसे ही हैं. फ़र्क है तो सिर्फ सोच का.

Success Vs Education

दुनिया के सबसे ज़्यादा मेहनती लोग जैसे Doctor, Engineer, Lawyer, IAS, IPS इत्यादि 95% की श्रेणी में ही आते हैं. लेकिन अगर 5% वाली श्रेणी के लोगों को देखें तो बहुत सारे तो इनमे से ऐसे होंगे जिनके पास कॉलेज की डीग्री भी नहीं होगी. तब समझ में आया कि जैसा हमें Basic Education में सिखाया है, “Hard Work And Education Is The Key Of Success” ऐसा है नहीं.

लेकिन फिर भी हमारे और इनके बीच कुछ तो फ़र्क है जो आमदनी में इतना बड़ा फ़र्क लेकर आता है. काफी अध्ययन और जाँच करने के बाद समझ में आया कि इनके और हमारे बीच 3 बड़े फ़र्क हैं.

95% लोगों के काम करने का तरीक़ा

  • Individual Effort
  • Limited Income
  • Active

सभी 95% वाले लोग पूरी ज़िन्दगी अकेले ही मेहनत करते हैं. उसकी वजह से ही उनकी आय हमेशा सीमित होती है. सबसे ज़्यादा खतरनाक बात ये है कि उनकी आय और उसका साधन Active रहता है. यानी जब तक वह कड़ी मेहनत करेंगे तब तक ही पैसा आता है जैसे ही उन्होंने काम करना बन्द किया तो आय भी बन्द हो जाती है.

5% लोगों के काम करने का तरीक़ा

  • Team Work
  • Unlimited Income
  • Passive

लेकिन 5% की श्रेणी के लोग कभी भी अकेले कार्य नहीं करते हैं वो सबसे पहले एक टीम खड़ी करते हैं. जिससे असीमित आय का साधन बन जाता है. ये लोगों से काम करवाते हैं. जिससे इनकी आय असीमित होती है. कुछ समय बाद ये अपने आप को Auto Mode में लेकर आते हैं. यानी ये लोग काम करना बन्द भी कर दें. तब भी आय बन्द नहीं होती है.

अगर 5% वाला सूत्र हमने भी अपनी ज़िदगी में अपना लिया तो हम भी 95% के श्रेणी से उठकर 5% की श्रेणी में आ सकते हैं. ज़रूरतों की ज़िन्दगी को छोड़कर सपनों की ज़िन्दगी को जी सकते हैं.

“अब आगे का लेख पढ़ने से पहले आप खुद फ़ैसला करें की आप किस श्रेणी में रहना चाहते हैं. यदि आप 95% वाली श्रेणी से संतुष्ट हैं तो फिर आपको आगे पढ़ने की ज़रुरत नहीं हैं. आगे का लेख पढ़ने में अपना कीमती समय नष्ट ना करें. लेकिन यदि आप सच में 5% की श्रेणी में क़दम बढ़ाना चाहते हैं तो आखिर तक पढ़ें और आपकी ज़िन्दगी बदलने वाली है.” क्यूँकि अब हम बात करेंगें Network Marketing Vs Traditional Job के बारे में.

95% श्रेणी से 5% की श्रेणी में कैसे जाएँ?

९६५% से 5% की श्रेणी में जाने के दो तरीक़े हैं एक तो आप असीमित आय के लिए असीमित पैसा खर्च करें या फिर Network Marketing के ज़रिये कुछ लगाये बिना Team Work करके अपने सपनों को साकार करें. Network Marketing Business की अकेला Business है जो आपको 3-5 सालों में ही 95% से उठाकर 5% वाली श्रेणी में ला सकता है.

ये भी पढ़ें!

No Leverage Time: सबसे पहले तो आप Network Marketing अकेले नहीं करते हैं. इसके लिए आप अपनी Team बनाते हैं. और Team के साथ अपनी मर्ज़ी के घंटों में कार्य करते हैं.

Choice Of People You Wish To Work: यहाँ हमारी मर्ज़ी होती कि हमें किन लोगो के साथ कम करना है. और किन लोगों के साथ नहीं.

No Investment – Maximum Return: इस Business में आपको कुछ भी निवेश करने की ज़रुरत नहीं होती है. और आपकी आया बहुत अच्छी होती है.

Part Time/Full Time: आप अपनी मर्ज़ी के मालिक होते हैं. आप चाहें तो इस Business को Part Time अपने पुराने काम के साथ साथ करें या फिर Full Time.

Win Business: ये एकलौता ऐसा Business है जहाँ आप हारते कुछ भी नहीं है क्यूँकि आपका निवेश तो कुछ हुआ ही नहीं है. हमेशा जीतते ही हैं.

Equal Opportunity For All: यहाँ पर किसी प्रकार की कोई डीग्री नहीं चाहिए. एक कम पढ़ा लिखा या अनपढ़ व्यक्ति भी इस कार्य को कर सकता है.

हर आदमी अपनी अलग से कुछ आय चाहता है, बचत भी चाहता है, और तो और वो अपने सपनों को भी पूरा करना चाहता है.

Residual Income:  यानी काम ना भी करें तब भी पैसा आता ही रहे.

Freedom By Nature: कोई Boss ना हो हम अपनी मर्ज़ी से काम करें.

शायद ही दुनिया में कोई व्यक्ति होगा जिसको ऊपर लिखी चीज़ें नहीं चाहिए. जिनको इनमे से कोई भी एक चीज़ या फिर सारी चीज़ें चाहिए उनके लिए Network Marketing के केवल रास्ता है जो ये सब दे सकता है.

Time Leverage क्या है?

सोच कर देखिये Time Leverage क्या है? Time Leverage यहाँ पर Network Marketing Vs Traditional Job को समझने का सही पैमाना है. उदाहरण के लिए हम 20-22 साल की उम्र में नौकरी की शुरुआत करते हैं. और अगले 40 साल तक नौकरी करते हैं. यदि हम रोज़ाना 9 घंटे की भी नौकरी करते हैं और एक रविवार के दिन छुट्टी करते हैं:

9 x 6 = 54 Hrs/Week x 50 Weeks/Year = 2700 Hrs/Year

2700 Hrs/Year x 40 Years = 1,08,000 Hrs/Lifetime

अब आप सोचकर देखिये कि 1,08,000 घंटों की कमाई पर ही हमारी बचत, बच्चों की पढ़ाई, घर, गाड़ी, शादी, बीमारी का इलाज इत्यादि का बोझ होता है.

Network Marketing Vs Traditional Job के लिए अब आप सोचकर देखिये यदि आपने 3 साल भी मेहनत की और केवल 2000 लोगों की Active Team खड़ी कर दी तो वो सारे लोग अगर एक घंटा / प्रतिदिन भी इस Business को देंगे तो 1,20,000 घंटे केवल 2 महीनों में होते हैं.

2000 Teammates x 1 Hr/Day x 60 Days

= 1,20,000 Hrs

यानी जो आप 40 साल में कमाने वाले थे वो 2 महीने में ही कमा कर रख देंगे.

दुनिया में जितने भी लोग अमीर बने हैं और अपने सपनों की दुनिया में जीते हैं. Time Freedom में रहते हैं. वो सभी Time Leverage की क़ीमत को समझते हैं. और उसको अपने Business में Apply करते हैं.

The “N” Graph

अब आप Network Marketing Vs Traditional Job को ठीक तरह से समझ गए होंगे. मगर Network Marketing Vs Traditional Job के बारे में एक बात और साफ़ कर देना चाहूँगा कि Network Marketing कोई जादू की छड़ी नहीं है कि आज आपने किसी Network Marketing Company को Join किया और कल से आप लाखों करोड़ों कमाने लग जाओगे. Network Marketing में सफलता प्राप्त करने के लिए आपको “N” Graph को समझना बहुत ज़रूरी है.

Network Marketing Vs Traditional Job, multi level Marketing, why network marketing is better, relationship marketing tips in hindi, top network marketing companies 2018, network marketing vs traditional business, robert kiyosaki network marketing, network marketing success secrets, rich dad poor dad
“N” Graph For Network Marketing (Key of Success)

इसका मतलब है कि पहले साल आपकी मेहनत बहुत ज़्यादा लगती है मगर आपकी आय बहुत कम या कुछ भी नहीं होती है. उसकी ख़ास वजह होती है कि आपको ज़्यादा जानकारी नहीं होती है और आप बहुत सारी ग़लतियाँ भी करते हैं.

लेकिन जैसे ही आप दूसरे साल में जाते हैं तो आपकी जानकारी बढ़ जाती है. ग़लतियाँ कम होती हैं और कुछ आपकी Team भी बढ़ जाती है इसलिए आपकी आय बढ़ जाती है.

तीसरे साल आपकी मेहनत के बराबर आपकी आय हो जाती है. तथा चौथे साल आपको कम काम करने पर भी ज़्यादा आय प्राप्त होती है.

पाँचवे साल में आप काम ना भी करें तब भी आपकी आय बढ़ती है.

ये Network Marketing की ताक़त है जिसे समझना बहुत ज़रूरी है. अगर आपने इसे समझ लिया और अपना लिया तो आपको 95% से 5% में आने से कोई नहीं रोक सकता है.

Network Marketing Vs Traditional Job के बारे में और अधिक जानकारी के लिए आप Comment करके पूँछ सकते हैं. मुझे बहुत अच्छा लगेगा अगर मैं आपके सवालों के जवाब दे सकूँ.

Share it to help others!
Spread the love

7 Replies to “Network Marketing Vs Traditional Job Full Guide”

  1. Dear you can fill your name and email Id in subscription box . Then you get a confirmation mail on your email Id. Confirm your subscription by click mentioned in the mail.
    Thanks.

  2. You’re so cool! I do not believe I’ve read anything like that before. So great to discover somebody with some original thoughts on this subject matter. Seriously.. many thanks for starting this up. This web site is one thing that’s needed on the web, someone with some originality!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *