Hindi Blog Traffic Badhane Ke 10 Tareeqe

By | 21st March 2018

दोस्तों आज हम जानेंगें कि Hindi Blog Traffic Badhane Ke 10 Tareeqe. Blogging में सफल होने के लिए Traffic की ज़रुरत होती है. नए Bloggers हमेशा से ही अपने Blog की Traffic को लेकर परेशान रहते हैं. जब मैंने Blogging शुरू की थी तब मुझे भी नहीं पता था कि Hindi Blog Traffic बढ़ाने के तरीक़े क्या हैं. बहुत कुछ ढूँढने के बाद मुझे पता चला है कि वेबसाइट का Traffic कैसे बढ़ाएं. हिंदी ब्लॉग को Traffic मिलना बहुत मुश्किल होता है. बहुत सारे नए Blogger सवाल करते हैं कि हिंदी Blog पर Traffic बढ़ाने के तरीक़े क्या हैं. आपके हिंदी ब्लॉग के Traffic को लेकर जो भी सवाल हैं यहाँ पर मैं कोशिश करूँगा कि सभी के जवाब यहाँ दे दूँ. तो चलिए दोस्तों देखते हैं कि Hindi Blog Traffic Badhane के 10 तरीक़े क्या हैं.

Hindi Blog Traffic बढ़ाने के 10 तरीक़े

how to increase Blog traffic best 10 waysBlog पर Traffic बढ़ाना मुश्किल काम है. Search Engine से Organic Traffic लेने के लिए अपने Blog को SEO के अनुसार बनाना होगा. SEO Traffic बढ़ाने के लिए बहुत बड़ा कारण है.
नए Bloggers High Traffic बढ़ाने का तरीक़ा जानना चाहते हैं. सबसे पहले तो ये जान लें के ज़्यादा Traffic लेने के लिए आपकी पोस्ट SEO के अनुसार होनी चाहिए. Blog पर ज़्यादा से ज़्यादा Traffic पाने के लिए सबसे पहले SEO के बारे में जाने, और ये भी जाने कि SEO कैसे कार्य करता है? मैं एक बात साफ़ तौर पर लिख देना चाहूँगा कि कार्य कोई भी हो मगर सफलता प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत बहुत ज़रूरी है. वेबसाइट के High Rank के लिए SEO (Search Engine Optimization) पर मेहनत के साथ साथ थोड़ी चालाकी भी दिखानी होगी. Hindi Blog Traffic को बढ़ाने के बारे में जिसने जान लिया समझो कि उसने सफलता हासिल कर ली है.
Search Engine से Organic Traffic लेने के लिए Hindi Blog की Traffic बढ़ाने के तरीकों के बारे में सीखना होगा. SEO सीखना कोई मुश्किल काम नहीं है. SEO पर ध्यान केन्द्रित करके आप भी अपने Blog का Traffic बढ़ा सकते हैं. दोस्तों रोज़ाना नए नए Blog और पोस्ट बनती रहती हैं. भारत की बात करें तो English के बजाय हिंदी में Blogging आसान है.
Blog पर ज़्यादा Traffic लाने के लिए हमें थोड़ी ज़्यादा मेहनत भी करनी पड़ेगी. Hindi Blog Traffic बढ़ाने के लिए जो जानकारी मैं बताने वाला हूँ उसका प्रयोग करके आप अपनी वेबसाइट का ट्रैफिक बढ़ा सकते हैं.

#1. Blog Desiging

Blog की बनावट (Design) भी Blog पर ज़्यादा Traffic लाने में मदद करती है. Professional Blogger कहते हैं कि Blog पर Traffic बढ़ाने के लिए Blog की बनावट आकर्षक होनी चाहिए. आपने हमेशा देखा होगा कि सफलतम Blogger के Blog की बनावट बहुत बढ़िया और आसान होती है. Blog की बनावट आकर्षक नहीं होगी तो Visitor ब्लॉग पर ज़्यादा देर नहीं रुकेंगे और अगर ब्लॉग आसान नहीं होगा तो किसी भी Visitor को कोई जानकारी तलाश करने में बड़ी दिक्कत होगी और वो आपके ब्लॉग पर नहीं आएगा. इस बात का प्रभाव Bounce Rate पर नज़र आएगा. आगे बढ़ने से पहले मैं आपको सलाह दूँगा कि आप भी अपने ब्लॉग के लिए एक बढ़िया आकर्षक वाला Blog Template का चुनाव करें. Blog अगर अच्छा दिखेगा तभी Visitor आपके ब्लॉग पर जानकारी को ज़्यादा देर तक पढेंगे और बार बार वापस आयेंगे. Website में Traffic लाने के लिए Blog की बनावट  सरल और आकर्षक होना बहुत ज़रूरी है.

#2. Alt Tag

Blog में विषय से सम्बंधित Image प्रयोग करना चाहिए. Google Robots सिर्फ Coding के भाषा समझते हैं. इसलिए Robots Image नहीं पढ़ सकते हैं. Image को SEO Friendly बनाने के लिए Image में Alt Tag इस प्रयोग करना चाहिए. Alt Tag में हम जो Keywords लिखते हैं उससे ही Google को पता चलता है कि Image किस विषय से सम्बंधित है. अगर आप Alt Tag प्रयोग नहीं करते हैं तो इस Image को Google नहीं समझ पायेगा और Image को लेख में प्रयोग करना का कोई भी फायदा नहीं मिलेगा.

#3. Write article for visitor

Visitors हमेशा कोई नयी जानकारी खोजने के लिए इन्टरनेट का सराहा लेते हैं. और उनको जो जानकारी चाहिए अगर वो आपकी साईट पर है तो आपकी साईट को लाइक और शेयर भी किया जायेगा.
Visitors को क्या चाहिए? इस को भी अच्छी तरह से समझाना आपकी सफलता को बढ़ाता है. Visitors के लिए जब आप Content (सामग्री) लिखेंगे उसे हम Unique Content कह सकते हैं. Visitors के सारे सवालों के जवाब आपके Content से मिल जाने चाहिए. ऐसा करने से आपको Search Engine से Organic Traffic तो मिलेगा ही साथ ही साथ SERP पर High Rank प्राप्त होगा.
Google चाहता है कि Visitos को अच्छी जानकारी मिले. इसलिए High Quality वाले Unique Post जिसमें SEO के अनुसार Keywords को प्रयोग किया गया हो. उसे Search Result Page पर सबसे ऊपर रखता है. इसलिए Content लिखते समय बुनियादी से शुरुआत करना चाहिए और Keywords Density, Images, Videos, Permalink पर ध्यान देना Hindi Blog Traffic के लिए ज़रूरी हो जाता है.

#4. Write Description

दोस्तों लेख में Description (विवरण) लिखना चाहिए ये तो सभी जानते है लेकिन क्यूँ लिखना चाहिए ये हर एक को पता नहीं है. इसके बारे में मैं आपको थोड़ी गहराई से बताता हूँ. Meta Description 160 सब्दों तक लिखना चाहिए. Google Crawl लेख को Crawl करते समय Search Description को Index करते हैं. और Google Search Result Page को टुकड़ों में दिखाता है. इन्हीं टुकड़ों को देखकर Visitor को उस लेख के बारे में थोड़ी जानकारी मिलती है. तथा Visitor पूरी जानकारी पाने के लिए आपके लेख पर तत्काल ही आता है.

#5. Use Keyword On Your Blog Post

Keyword प्रयोग करने से Search  Robots को पता चलता है कि लेख कौन से विषय पर लिखी गया है. लेख में प्रयोग होने वाले Keywords की गुणवत्ता पर Search Engine लेख को Rank देता है. इसलिए लेख में High Quality Keywords प्रयोग करना चाहिए.
Keywords के बहुत सारे प्रकार होते हैं Long Tail Keywords, Focus Keywords, Short Tail Keywords इत्यादि. हमें इन सभी तरह से Keywords को प्रयोग करना है. Keywords को सभी जगह पर प्रयोग करने से ही फायदा होगा है और Keywords की Density पर भी ध्यान देना बहुत ज़रूरी है. Professional Blogger कहते हैं कि Keywords Density 2.5 होनी चाहिए. अगर Keyword Density ज़्यादा हो तो Google लेख को Spam समझकर अस्वीकार कर देता है. Keywords की Density और Keywords कहाँ प्रयोग करना है ताकि आपको Hindi Blog Traffic ज़्यादा से ज़्यादा मिल सके. ये मैं आपको अपने अगले किसी लेख में फिर बताऊँगा.

#6. Label

लेख में Label लगाने से लेख की Category पता चलती है. Searh Engine Optimization करने के लिए Label का उपयोग करना पड़ता है. एक सफलतम Blogger हमेशा इन छोटी छोटी बातों पर ध्यान देते हैं. लेख से मिलते जुलते 3 से 4 Label प्रयोग कर सकते हैं. एक ही लेख पर ज़्यादा Label लगाने से लेख ज़्यादा Category में दिखती है. जिससे Traffic में भी मदद मिलती है.

#7. Fast Loading Template

जैसे मैं पहले भी कह चुका हूँ कि इन्टरनेट पर रोज़ाना लाखों वेबसाइट और पोस्ट आ रही हैं. Visitors के पास इतना समय नहीं होता है कि वो आपकी पोस्ट के देरी से खुलने का इंतज़ार करे. क्यूँकि Visitors के पास बहुत सारे विकल्प (Options) होते हैं.  आपकी पोस्ट को छोड़कर Visitor किसी और साईट पर चला जाएगा. इसीलिए आपकी साईट की खुलने की रफ़्तार बहुत तेज़ होनी चाहिए. इसके लिए आपको Blog की Template की सेटिंग को बहुत तेज़ खुलने के लिए बदलना पड़ेगा. Blog के खुलने की Speed अच्छी होगी तो Visitor बार बार आपकी साईट से ही जानकारी लेना पसंद करेंगे.

#8. Write SEO Friendly Post

लेख को Search Result Page पर Rank कराने के लिए SEO Friendly Post लिखना ज़रूरी है. Google ने खुद के लिए एक Algorithm विकसित किया और वो उसकी ही बुनियाद पर काम करता है. यदि आप इस Algorithm को ध्यान में रखकर लेख लिखेंगे तो ज़रूरी उस लेख को SERP में ऊँचा Rank मिलेगा.

#9. Outbound Link

Outbound Linking High Rank पाने के लिए मददगार साबित होती है. दूसरे वेबसाइट, Blog की Link को अपने लेख में प्रयोग करने को कहते हैं Outbound Linking. जब हम लेख लिखते समय हम दूसरी साईट का ज़िक्र करते हैं. और साथ में उसका Link भी साथ में देते हैं तो इससे SEO में मदद मिलती है.
उदाहरण : जब हम Yahoo के बारे में लिखते हैं. तो Yahoo शब्द पर अगर हम yahoo.com का Link डाल देते हैं. इसको ही Outbound Linking कहते हैं.

#10. Internal linking

Blog की Traffic बढ़ाने में Internal Linking का बहुत बड़ा हाथ होता है. Internal linking के बहुत सारे फायदे है.  सबसे बड़ा फायदा ये है की Linked Post को Link Juice मिलता है.  जिससे लेख की Rank सुधारने में मदद मिलती है.  Visitor आपका लेख पढ़ते समय एक लेख से दूसरे लेख पर आसानी से जा सकता है. उसे ढूँढने की ज़रुरत नहीं पड़ती है जिससे Page Views बढ़ते हैं. Traffic में भी सुधार आता है.  Internal Linking करना बहुत ही सरल है और ये सुरक्षित भी है.
दोस्तों उम्मीद करता हूँ के ऊपर बतायी गयी सभी बातें आपको अच्छी लगी होंगी. यदि हाँ तो इस लेख को अपने दोस्तों को ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करें. जिससे वो भी इसका लाभ ले सकें.
Share it to help others!

3 thoughts on “Hindi Blog Traffic Badhane Ke 10 Tareeqe

  1. Pingback: Google Rank Brain For Google Search Engine Ranking - Hindi on Web

  2. Pingback: Dos And Don’ts For Content Marketing On Twitter

  3. http://addthis.com

    In orԁer to aсhieve succesѕ witһ freelancing,
    iit is necessary to be self-disciplined, motivated, and organized.
    If you happen to elect to take the route of freeⅼancing, you hasve to
    to be able to seek and acquire potential jobs, be very efficient in schеdսling your time, and have good math skills
    for the aim of biⅼling and taxes.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *